1 October 2022

उपदेश

भगवान श्रीकृष्ण ने गीता में यह क्यों कहा, स्वधर्मे निधन श्रेय: परधर्मो भयावह:। जब तक हिंदुओं का...
धर्म की रक्षा यानि “धर्म रक्षति रक्षितः” श्री हरि विष्णु ने वराह रूप में हिरण्याक्ष का वध...
जो लोग यूक्रेन में डॉक्टरी पढ़ने वाले बच्चों और उनके अभिभावकों का मजाक बना रहे हैं, उन्होंने...
धन को निर्मित करना चाहिए धन मनुष्य की खूबसूरत ईजाद है। वह एक आशीर्वाद है, यदि इसका...
सांस सिर्फ आक्सीजन और कार्बन डाइआक्साइड का आदान-प्रदान नहीं है। आप जिस तरह के विचारों और भावनाओं...
रहस्य के प्रति उत्सुकता मनुष्य को आदिकाल से ही रही है। मानवमन में अनेक रहस्यमय प्रश्न उठते...
रोने’ और ‘हँसने’ से अर्थ क्या है? समझेंगे थोड़ा। एक ही बल है- राम का बल, आत्मबल,...